नोबेल पुरस्कार 2021 (Nobel Prize 2021 Current Affairs)

नोबेल पुरस्कार 2021 (Nobel Prize 2021 Current Affairs)

इस पोस्ट में “नोबेल पुरस्कार 2021 (Nobel Prize 2021 Current Affairs)” की सभी महत्वपूर्ण जानकारियां दी गयी है. ‘नोबेल पुरस्कार’ से किसी भी EXAM में एक प्रश्न पक्का पूछा जाता है|

नोबेल पुरस्कार 2021 (Nobel Prize 2021 Current Affairs)


चिकित्सा नोबेल पुरस्कार 2021 (Medical Nobel Prize)

चिकित्सा नोबेल पुरस्कार 2021 (Medical Nobel Prize)
चिकित्सा नोबेल पुरस्कार 2021 (Medical Nobel Prize)

हाल ही में 4 अक्टूबर 2021 को “चिकित्सा का नोबेल 2021” दो अमेरिकी वैज्ञानिको को मिला (Nobel Prize 2021) जिसकी घोषणा हाल ही में किया गया.

फिजियोलॉजी या मेडिसिन में दिए जाने वाले नोबेल पुरस्कार (Nobel Prize) का ऐलान कर दिया गया.

इस बार अमेरिका के वैज्ञानिक डेविड जूलियस (David Julius) और आर्डेम पटापौटियन (Ardem Patapoutian) को संयुक्त रूप से ये प्राइज दिया जा रहा है. इन्हें ये पुरस्कार तापमान और स्पर्श के लिए रिसेप्टर्स की खोज के लिए दिया गया है.

जबकि पिछले साल 2020 में मेडिसिन का नोबेल प्राइज संयुक्त रूप से तीन वैज्ञानिकों हार्वे अल्‍टर (Harvey Alter), माइकल हॉगटन (Michael Houghton) और चार्ल्‍स राइस ( Charles Rice) को संयुक्त रूप से दिया गया था। इन वैज्ञानिकों ने मिलकर हेपटाइटिस सी वायरस की खोज की थी।


भौतिकी नोबेल पुरस्कार 2021 (Physics Nobel Prize)

भौतिकी नोबेल पुरस्कार 2021 (Physics Nobel Prize)
भौतिकी नोबेल पुरस्कार 2021 (Physics Nobel Prize)

हाल ही में भौतिकी में 2021 का नोबेल पुरस्कार (Nobel Prize in Physics) रॉयल स्वीडिश एकेडमी ऑफ साइंसेज (Royal Swedish Academy of Sciences) ने देने का फैसला किया है।

जलवायु संबंधी खोजों के लिए 3 वैज्ञानिकों को इस वर्ष भौतकी के नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया जायेगा, जिसके लिए जापान, जर्मनी और इटली के तीन वैज्ञानिकों को चुना गया है.

इन 3 वैज्ञानिकों में जापान के ‘स्यूकूरो मनाबे’ और जर्मनी के ‘क्लॉस हैसलमैन’ को ‘पृथ्वी की जलवायु की भौतिक ‘मॉडलिंग’, ग्लोबल वॉर्मिंग के पूर्वानुमान की परिवर्तनशीलता और प्रामाणिकता के मापन’ फिल्ड में उनके काम के लिए चुना गया है.

जबकि इटली के ‘जॉर्जियो पारिसी’ को ‘परमाणु से लेकर ग्रहों के मानदंडों तक भौतिक प्रणालियों में विकार और उतार-चढ़ाव की परस्पर क्रिया की खोज’ के लिए चुना गया है.


रसायन नोबेल पुरस्कार 2021 (Chemistry Nobel Prize)

रसायन नोबेल पुरस्कार 2021 (Chemistry Nobel Prize)
रसायन नोबेल पुरस्कार 2021 (Chemistry Nobel Prize)

हाल ही में 6 अक्टूबर 2021 को रॉयल स्वीडिश एकेडमी ऑफ साइंसेज ने रसायन विज्ञान (Chemistry) के लिए वर्ष 2021 का नोबेल पुरस्कार (2021 Nobel Prize in Chemistry) जर्मनी के बेंजामिन लिस्ट (Benjamin List) और अमेरिका के डेविड मैकमिलन (David W.C. MacMillan) को दिया है.

दोनों ही वैज्ञानिकों को यह सम्मान “अणुओं के निर्माण के लिए एक सरल उपकरण” बनाने के लिए दिया गया है. उन्हें यह सम्मान ‘एसिमेट्रिक ऑर्गेनोकैटलिसिस’ (asymmetric organocatalysis) के रूप में जाने वाले अणुओं के निर्माण के लिए एक नया तरीका विकसित करने में उनके उल्लेखनीय कार्य के लिए दिया गया है.

जबकि वर्ष 2020 में रसायन विज्ञान (Chemistry) का नोबेल पुरस्कार “जीनोम एडिटिंग नई पद्धति खोजने के लिए” इमैनुएल चार्पियर (Emmanuelle Charpentier) और जेनिफर ए. डोडना (Jennifer A. Doudna) को दिया गया था।

जबकि नोबेल पुरस्कार (Nobel Prize) के तहत स्वर्ण पदक, एक करोड़ स्वीडिश क्रोना (तकरीबन 8.20 करोड़ रूपये) की राशि दी जाती है। स्वीडिश क्रोना स्वीडन की मुद्रा है। यह पुरस्कार स्वीडन के वैज्ञानिक ‘अल्फ्रेड नोबेल’ (Alfred Nobel) के नाम पर दिया जाता है।


साहित्य नोबेल पुरस्कार 2021 (Literature Nobel Prize)

साहित्य नोबेल पुरस्कार 2021 (Literature Nobel Prize)
साहित्य नोबेल पुरस्कार 2021 (Literature Nobel Prize)

वर्ष 2021 का साहित्य नोबेल पुरस्कार (Nobel Prize in Literature) तंजानिया के उपन्यासकार ‘अब्दुलरजाक गुरनाह’ को देने का एलान किया गया है।

अब्दुलरजाक गुरनाह के उपन्यास ‘पैराडाइज’ (1994) ने उन्हें एक लेखक के रूप में पहचान दिलाई थी। इस पुस्तक में उन्होंने 1990 के आसपास पूर्वी अफ्रीका की एक शोध यात्रा के दौरान यही लिखी थी। उन्होंने शरणार्थियों के भाग्य का निर्धारण करने के लिए अपनी अडिग और करुणामय लेखनी के माध्यम से दुनिया के दिलों में प्रेम पैदा किया है।

अब्दुलरज़क गुरनाह –

तंजानिया के उपन्यासकार का जन्म 1948 में ज़ांज़ीबार में हुआ था और तब से वह यूके और नाइजीरिया में रहते हैं। वह अंग्रेजी में लिखते हैं, और उनका सबसे प्रसिद्ध उपन्यास पैराडाइज (Paradise) है, जिसे 1994 में बुकर पुरस्कार के लिए चुना गया था। गुरनाह वर्तमान में यूके में रहते हैं और केंट विश्वविद्यालय में अंग्रेजी साहित्य पढ़ाते हैं।

जबकि वर्ष 2020 में साहित्य के लिए नोबेल पुरस्कार अमरीकी कवयित्री ‘लुईस ग्लिक’ को दिया गया था.


शांति नोबेल पुरस्कार 2021 ( Peace Nobel Prize 2021)

शांति नोबेल पुरस्कार 2021 ( Peace Nobel Prize 2021)
शांति नोबेल पुरस्कार 2021 ( Peace Nobel Prize 2021)

इस वर्ष फिलिपींस की पत्रकार मारिया रेसा (Maria Ressa) और रूस के पत्रकार दिमित्री मुराटोव (Dmitry Muratov) को शांति का नोबेल पुरस्कार 2021 (Nobel Peace Prize 2021) दिया गया है.

ये दोनों दोनों पत्रकार हैं. इनको शांति का नोबेल पुरस्कार ‘अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता की रक्षा करने के लिए’ किए गए प्रयासों के लिए दिया गया है.

इस साल शांति का नोबेल पुरस्कार 2021 के लिए उम्मीदवारों में जलवायु कार्यकर्ता ग्रेटा थनबर्ग, मीडिया राइट ग्रुप रिपोर्टर्स विदाउट बॉर्डर्स (RSF) और वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन (WHO) शामिल थे.

जबकि नोबेल शांति पुरस्कार जीतने वाले को अब 1.1 मिलियन डॉलर की इनामी राशि दी जाएगी.

पिछली बार 2020 में संयुक्त राष्ट्र के संगठन ‘विश्व खाद्य कार्यक्रम’ (World Food Programme-WFP) को वर्ष 2020 के लिए नोबेल शांति पुरस्कार (Nobel Peace Prize) से सम्मानित किया गया था।


अर्थशास्त्र नोबेल पुरस्कार 2021 ( Economics Nobel Prize 2021)

अर्थशास्त्र नोबेल पुरस्कार 2021 ( Economics Nobel Prize 2021)
अर्थशास्त्र नोबेल पुरस्कार 2021 ( Economics Nobel Prize 2021)

तीन अमेरिकी अर्थशास्त्रीयो ‘डेविड कार्ड’, ‘जोशुआ डी एंग्रिस्ट’ और ‘गुइडो डब्ल्यू इम्बेन्स’ ने अनपेक्षित प्रयोगों या तथाकथित “प्राकृतिक प्रयोगों” से निष्कर्ष निकालने पर काम करने के लिए अर्थशास्त्र (Economics) के लिए 2021 का नोबेल पुरस्कार जीता है।

एक आधा पुरस्कार डेविड कार्ड को दिया गया और दूसरा आधा संयुक्त रूप से एंग्रिस्ट और इम्बेन्स को दिया जायेगा।

डेविड कार्ड एक कैनेडियन है, और यह कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय में कार्यरत है.

जबकि जोशुआ एंग्रिस्ट एक अमेरिकी नागरिक है, और ए मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (MIT) में कार्यरत है.

जबकि गुइडो इम्बेन्स एक डच नागरिक है, और ये स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी में कार्यरत है.

इस तीनों अर्थशास्त्रीयो ने आर्थिक विज्ञान में अनुभवजन्य कार्य को पूरी तरह से नया रूप दिया है।

जबकि पिछली बार 2020 में अर्थशास्त्र के लिए नोबेल पुरस्कार दो अमेरिकी अर्थशास्त्रियों ‘पॉल आर. मिलग्रोम’ और रॉबर्ट बी. विल्सन को प्रदान किया गया था.

इनको यह पुरस्कार ‘नीलामी सिद्धांत में सुधार और नए नीलामी स्वरूप’ के आविष्कार के लिए दिया गया था|

नोबेल पुरस्कार विजेता 2019 | Nobel prize winners 2019