Latest Post

Computer : General Knowledge (Computer GK) पुलित्जर पुरस्कार 2022 (Pulitzer Prize 2022) Awards and Honours 2022 Most Important GK One liner Question Answer in Hindi पुरस्कार और सम्मान 2022 (Awards and Honours 2022) Current Affairs 2022 TOP 200: सामान्य ज्ञान (General Knowledge Questions) PART-1

इस पोस्ट में हाल ही में दिए गये “International Booker Prize 2022 (अंतर्राष्ट्रीय बुकर पुरस्कार 2022)” के बारे में बताया गया है. पुरस्कार और सम्मान (Award and Honours) से किसी भी एग्जाम में एक प्रश्न पक्का पूछा जाता है|

International Booker Prize 2022

(अंतर्राष्ट्रीय बुकर पुरस्कार 2022)

International Booker Prize 2022 (अंतर्राष्ट्रीय बुकर पुरस्कार 2022): हाल ही में देश की जानी-मानी लेखिका और उपन्यासकार ‘गीतांजलि श्री’ (Geetanjali Shree) को उनके उपन्यास ‘Tomb of Sand’ के लिए साल 2022 का अंतरराष्ट्रीय बुकर प्राइज दिया गया है.

ऐसा पहली बार है कि जब किसी हिंदी उपन्यास के लिए किसी लेखिका को दुनिया के प्रतिष्ठित ‘अंतरराष्ट्रीय बुकर प्राइज’ से सम्मानित किया गया है. यह भारत के लिए बड़े गर्व की बात है.

हिंदी उपन्यास के लिए पहला अंतर्राष्ट्रीय बुकर पुरस्कार:

गीतांजलि श्री की ‘टॉम्ब ऑफ सैंड’ को जब अंतरराष्ट्रीय बुकर पुरस्कार के लिए ‘शॉर्टलिस्ट’ किया गया तो ये बड़ी उपलब्धि थी, क्योंकि ये उपन्यास बुकर प्राइज के लिए हिंदी भाषा की पहली कृति बन गया. इसके बाद अब 2022 का बुकर प्राइज भी इस उपन्यास को ही मिला है.

बता दें कि लेखिका और साहित्यकार गीतांजलि श्री का यह उपन्यास मूल रूप से हिंदी में ‘रेत समाधि’ के नाम से प्रकाशित हुई थी और इसका अंग्रेजी अनुवाद “Tomb of Sand” नाम से डेजी रॉकवेल ने किया है.

गीतांजलि श्री ने अंतर्राष्ट्रीय बुकर पुरस्कार ‘टॉम्ब ऑफ सैंड’ किताब की अंग्रेजी अनुवादक ‘डेजी रॉकवेल’ (Daisy Rockwell) के साथ साझा किया.

अंतर्राष्ट्रीय बुकर पुरस्कार के साथ इन दोनों लेखको को 50,000 पाउंड की राशि भी मिलेगी, जिसे लेखिका और अनुवादक के बीच बांटा जाएगा.

रेत समाधि (Tomb of Sand) का अनुवाद:

टॉम्ब ऑफ सैंड (Tomb of Sand) मूलत: गीतांजलि की पुस्तर रेत समाधि की पुस्तक का अंग्रेजी अनुवाद है जो एक 80 वर्षीय महिला की कहानी है.

International Booker Prize 2021 (अंतर्राष्ट्रीय बुकर पुरस्कार 2021):

जबकि पिछले वर्ष फ्रांस के उपन्यासकार ‘डेविड डिओप’ (David Diop) को ‘अंतरराष्ट्रीय बुकर पुरस्कार 2021’ (International Booker Prize 2021) से सम्मानित किया गया था।

‘डेविड डिओप’ अंतरराष्ट्रीय बुकर पुरस्कार जीतने वाले फ्रांस के पहले लेखक हैं। डेविड डिओप को इनकी अंग्रेजी में अनुवादित पुस्तक ‘एट नाइट ऑल ब्लड इज ब्लैक’ (At Night All Blood is Black) के लिए अंतरराष्ट्रीय बुकर पुरस्कार दिया गया था।
‘डेविड डिओप’ ने पुरस्कार की 50,000 पाउंड की राशि को अनुवादक ‘अन्ना मोस्कोवाकिस’ (Anna Moschovakis) के साथ साझा किया था।

International Booker Prize 20221 (अंतर्राष्ट्रीय बुकर पुरस्कार 2021):

वर्ष 2020 में अंतरराष्ट्रीय बुकर पुरस्कार नीदरलैंड्स की लेखिका ‘मारिके लुकास रिजनेवेल्ड’ (Marieke Lucas Rijneveld) को उनके उपन्यास ‘द डिस्कम्फर्ट ऑफ इवनिंग’ (The Discomfort of Evening) के लिए प्रदान किया गया था।

अंतरराष्ट्रीय बुकर पुरस्कार (International Booker Prize) के बारे में:

अंतरराष्ट्रीय बुकर पुरस्कार प्रतिवर्ष किसी भी भाषा के काल्पनिक कथा उपन्यास को दिया जाता है, जिसका अनुवाद अंग्रेजी में हुआ हो और प्रकाशन ब्रिटेन अथवा आयरलैंड में हुआ हो.

अंतरराष्ट्रीय बुकर पुरस्कार को पहले ‘मैन बुकर अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार’ के रूप में जाना जाता था, और अंतरराष्ट्रीय बुकर पुरस्कार को 2005 से प्रदान किया जाता है, और पहली बार अंतरराष्ट्रीय बुकर पुरस्कार अल्बानियाई लेखक “इस्माइल कदरे” ने जीता था।

अन्य महत्वपूर्ण पोस्ट देखे –

x
General Knowledge Questions Kia EV6: किआ की पहली इलेक्ट्रिक कार भारत में लॉन्च, फुल चार्ज में चलती है 500 किमी, जानें कीमत और फीचर्स जनरल नॉलेज (GK) के इन प्रश्नों का जवाब क्या आपको पता है ? Brother’s Day 2022: पिता के बाद भाई ही बनता है आपकी ढाल, जानिए क्यों मनाया जाता है ब्रदर्स डे. Government Schemes 2022 (Current Affairs MCQs)